PROBLEM SOLVING PACKAGE

PURPOSE:
TO GUIDE INDIANS TO GET OUT OF MENTAL AND
FINANCIAL DIFFICULTIES.

FREE TEACHINGS OF GAUTAM BUDDHA

FREE GEM OF HAPPINESS ​

FREE 5 POWERFUL VIDEOS​

FREE RI-SI-MI-S ASSESSMENT

FREE DREAM/PROBLEM DISCUSSION

FREE SECRET RETIREMENT FORMULA

FREE ACTION PLAN

LIFETIME SUPPORT

LIFETIME TRAINING

FREE MEMBERSHIP FOR FIFTY FACTS

GUARANTEED SUCCESS

HIGHLY RECOMMENDED FOR

  • EMPLOYEES
  • WORKERS
  • STUDENTS
  • WOMEN
  • EARLY RETIREMENT ASPIRANTS
  • PERSON WHO IS IN FINANCIAL PROBLEM

TERMS & CONDITIONS

1. Bhagavad Gita in 2 months. If not, read only 15 minutes daily. Bhagavad Gita is not a religious book, it’s a Life Manual.
2. To be happy, one should assimilate the 1 powerful thought of Gautam Buddha, Gem of Happiness and Other 10 Powerful Thoughts.
3. Don’t say I know everything. Keep learning from where you can learn.
4. Read as many books as possible.
5. Lifetime Support: You can contact us 1 time in every month if you have any problems with the service and subscription.
6. Guaranteed Success: Do Ri-Si-Mi-S Assessment. Work on Action Plan. You will succeed. We guarantee guidance. One thing you always have to keep in mind is that you are responsible for your own life.
7. We will guide you. You want to do the work. We are empowering you.
8. Be sure to read Chapter 2, Verse 47 of the Bhagavad Gita. In it, idleness is called sin. No matter how well you read, listen, watch, it will be of no use unless you do karma.
9. All rights reserved.

१. २ महीने में भगवदगीता पढ़ें। यदि नहीं, तो रोजाना केवल १५ मिनट पढ़ें। भगवदगीता धार्मिक पुस्तक नहीं है, यह एक जीवन पुस्तक है।

२. खुश रहने के लिए, व्यक्ति को गौतम बुद्धजी का १ शक्तिशाली विचार, सुख के रत्न और अन्य १0 शक्तिशाली विचारों को आत्मसात करना चाहिए।

३. मत कहो मुझे सब पता है। जहाँ से आप सीख सकते है, वहां से सीखते रहें।

४. ज्यादा से ज्यादा किताबें पढ़ें।

५. Lifetime Support: यदि आप को सेवा और सदस्यता से कोई समस्या है, तो आप हर महीने में १ बार हमें संपर्क कर सकते हैं।

६. Guaranteed Success: Ri-Si-Mi-S आकलन करें। कार्य योजना पर कार्य करें। आपको सफलता जरूर मिलेगी। हम मार्गदर्शन की गॅरंटी देते हैं। आप को एक चीज़ हमेशा ध्यान में रखनी है कि, खुद की जिंदगी के लिए खुद ही जिम्मेदार होते हैं।

७. हम आप को मार्गदर्शन करेंगे। काम आप को ही करना हैं। हम आप को सशक्त बना रहे हैं।

८. भगवदगीता का अध्याय २, श्लोक ४७ जरूर पढ़ें। इसमें आलस्य को पाप कहा गया हैं। कितना भी अच्छा पढ़ लो, सुनो, देखो इसका कुछ फायदा नहीं, जब तक आप कर्म नहीं करते।

९. सभी अधिकार सुरक्षित। 

TO MAKE INDIA A WORLD LEADER

   Mumbai,India

    +919821532708 / +919321492293

    info@mindset-enterprises.com

Contact Us